×
userImage
Hello
 Home
 Dashboard
 Upload News
 My News

 News Terms & Condition
 News Copyright Policy
 Privacy Policy
 Cookies Policy
 Login
 Signup
 Home All Category
          Festival      Horoscopes      Day Special      Culture      Post Anything

Religion / Culture / India / Uttar Pradesh / Noida
Srimad Bhagvad Mahatmya

By  Manju Manju /
Sun/Jul 11, 2021, 03:11 AM - IST -74

भक्ति का दुख दूर करने के लिए नारद जी का उदद्योग नारद जी ने कहा- बाले! तुम व्यर्थ ही अपने को क्यों खेद में डाल रही हो? अरे! तुम इतनी चिन्तातुर क्यों हो? भगवान श्रीकृष्ण के चरण कमलों का चिंतन करो। उनकी कृपा से तुम्हारा सारा दुख दूर हो जाएगा।
Noida/
माहात्म्य-2 भक्ति का दुख दूर करने के लिए नारद जी का उदद्योग नारद जी ने कहा- बाले! तुम व्यर्थ ही अपने को क्यों खेद में डाल रही हो? अरे! तुम इतनी चिन्तातुर क्यों हो? भगवान श्रीकृष्ण के चरण कमलों का चिंतन करो। उनकी कृपा से तुम्हारा सारा दुख दूर हो जाएगा।
 
 
 
By continuing to use this website, you agree to our cookie policy. Learn more Ok